IMPS क्या होता है? – IMPS से पैसा कैसे ट्रान्सफर करते है जाने पूरी जानकारी हिंदी में!

आज की पोस्ट में हम जानेंगे IMPS क्या होता है, इसकी पूरी जानकारी देने वाले है| इसलिए आप लोग इस पोस्ट को पूरा पढ़े ताके आपको भी IMPS के बारे में पूरी जानकारी हो जाये| तो चलिए आगे बढ़ते है और जानते है| IMPS की पूरी जानकारी आप हमे निचे तक फॉलो करे और इस पोस्ट को पूरा पढ़े|

आपको बता दे की इस समय में बहुत से लोग पैसे भेजने के लिए ऑनलाइन पैमेंट ऑप्शन का उपयोग करते है| जिनमे सर्वाधिक लोकप्रिय PhonePay, Google Pay, Bhim UPI, Paytm, IMPS आदि है। PhonePay इत्यादि के बारे में तो आपने सुना ही होगा परन्तु क्या आप IMPS के बारे में जानते है| IMPS बहुत से लोग इसकी सहायता से भी पैसे ट्रांसफर करते है लेकिन इसके बारे में पूरी तरह से जानकारी बहुत कम लोगों को ही पता है।

इस समय में हमारा ज्यादातर काम घर बैठे ही ऑनलाइन के माध्यम से ही हो जाता है। आज हम अपने बैंकिंग से सम्बन्धित कामो को आसानी से ऑनलाइन के माध्यम से कर सकते है| बैंक में खाता खोलना हो, किसी चीज़ का भुगतान करना हो या किसी भी व्यक्ति को पैसे भेजना हो आज सभी कार्य आसानी से ऑनलाइन माध्यम से पूरे हो जाते है। आज हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से बताएंगे कि IMPS से पैसा कैसे भेजते है| बस आप इस पोस्ट को अंत तक पढ़े ताके आपको अच्छे से समझ में आजाये तो चलिए आगे बढ़ते है और जानते IMPS की पूरी जानकारी विस्तार से|

imps kya hota hai

IMPS Kya Hota Hai

आपको की IMPS को 25 नवंबर 2010 को लाँच किया गया था| आज भारत में अधिकतर बैंक अपने उपभोक्ताओं को इस सेवा का लाभ प्रदान कर रही है। जिनमे Bank Of India, Axis Bank, Canara Bank, Central Bank Of India आदि शामिल है IMPS तुरंत पैसे भेजने या प्राप्त करने के लिए एक बहुत ही अच्छी और आसान सेवा है।

IMPS FULL FORM

IMMEDIATE PAYMENT SERVICE होता है |

IMPS एक ऐसी बैंकिंग भुगतान सेवा है जिससे आप रियल टाइम में पैसों को एक खाते से दूसरे खाते में बिना कोई थर्ड पार्टी के भेज सकते है| IMPS के माध्यम से आप किसी को भी कभी भी तत्काल पैसा आप आसानी से भेज सकते है। IMPS, NPCI (National Payment Corporation Service) द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवा है| जिसके माध्यम से आप तुरंत फंड ट्रांसफर या रिसीव कर सकते हो IMPS के द्वारा आप 24 घंटे में कभी भी ATM, इंटरनेट या मोबाइल के द्वारा बैंकिंग सुविधा का लाभ आप बहुत आसानी से उठा सकते है।

IMPS Se Paisa Kaise Bhejte KaTarika

आगे हम आपको बताएँगे की IMPS कैसे करते है इसकी पूरी जानकारी भी प्रदान करेंगे। नीचे बताए गए तरीकों के द्वारा आप IMPS Fund Transfer आसानी से कर सकते है|

MMID (Mobile Money Identification Number) के द्वारा

IMPS सेवा का उपयोग करने के लिए 7 डिजिट का एक यूनिक नंबर होता है, जिसे IMPS के द्वारा उपयोग करके फंड ट्रांसफर किया जाता है। नए MMID को प्राप्त करने के लिए आप अपने बैंक की इंटरनेट बैंकिंग सुविधा को इस्तेमाल कर सकते है। इसके लिए निचे दिए गए Step को फॉलो करे|

1. सबसे पहले अपने “Mobile Banking App” पर लॉगिन करे।

2. इसके बाद “Fund Transfer” के सेक्शन पर जाकर “IMPS” को चयनित करे।

3. IMPS को चयनित करने के बाद आप जिसे भी पैसे भेजना चाहते है उसका “Account Number “Mobile Number” और “MMID Code” ऐड करके भुगतान करे।

4. आप इस ट्रांजेक्शन को OTP या MIPN के द्वारा “Verify” कर सकते है।

5. इसमें आपके खाते से पैसे डेबिट होकर प्राप्त करने वाले के खाते में क्रेडिट हो जाते है।

6. भुगतान होने के पश्चात आपको एक मैसेज आएगा जिसमे ट्रांसक्शन की सभी डिटेल्स होगी इसका स्क्रीन शॉट सेव कर ले क्योंकि यह नंबर कभी भी काम आ सकता है।

Mobile द्वारा Transfer

मोबाइल से फंड ट्रांसफर करने के लिए सर्वप्रथम आपको अपने बैंक खाते में मोबाइल बैंकिंग सेवा एक्टिवेट करवाना होगी, इसके बाद आप NPCI (National Payment Corporation Service) की USSD सेवा *99# का उपयोग करके किसी भी व्यक्ति को फंड ट्रांसफर कर सकते है। इस सेवा के उपयोग के लिए आपको अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से *99# डायल करना होगा, जिसमे फंड ट्रांसफर का विकल्प आ जाएगा, और आप किसी भी व्यक्ति को उसके मोबाइल नंबर और बैंक अकाउंट की जानकारी डाल कर आप आसानी से फंड ट्रांसफर कर सकते है।

ATM द्वारा Transfer

आपको बता दे की ATM से IMPS करने के लिए आप जिसे भी पैसे का भुगतान करना चाहते है उसका डेबिट कार्ड का नंबर होना बहुत ज़रुरी है। इस सुविधा का उपयोग करना के लिए नीचे दिए गए Step की सहायता ले|

1. IMPS करने के लिए सबसे पहले अपने डेबिट कार्ड को एटीएम में स्वाइप करे,
तत्पश्चात अपने एटीएम की पिन डाले।

2. Pin डालने के बाद फंड ट्रांसफर के विकल्प का चयन करे और IMPS के Option पर जाये।

3. MPS के Option पर जाने के बाद आपने जो मोबाइल नंबर रजिस्टर किये थे वो दिखाई देंगे।

4. मोबाइल नंबर का चयन करना के बाद आपको जिस भी व्यक्ति को पैसे ट्रांसफर करना है उसका मोबाइल नंबर और MMID नंबर इंटर करना होगा।

5. अब आप कितना अमाउंट ट्रांसफर करना चाहते है, उसे भरे और “Confirm” करके “Send” कर दे।

6. ऊपर बताई गयी विधि को पूरा करने के बाद आपके खाते से पैसे डेबिट होकर प्राप्तकर्ता के खाते में क्रेडिट हो जाएँगे।

7. पैसे भुगतान होने के बाद आपको एक संदेश प्राप्त होगा जिसमे भुगतान से सम्बन्धित सारी जानकारी लिखी होगी।

इसे भी जरूर पढ़े:- UPI क्या है? – UPI कैसे काम करता है? – UPI ID कैसे बनाते है

IMPS लेन-देन सीमा

आपको बता दे की NEFT और IMPS का न्यूनतम लेन-देन मूल्य 1 रुपए है। NEFT की अधिकतम सीमा हर बैंक में अलग अलग बैंक के हिसाब से होती है| आप प्रति लेन-देन 10 लाख रुपये तक भी कर सकते है। वही दूसरी ओर IMPS के माध्यम से अधिकतम IMPS Transfer Limit एक दिन में केवल 2 लाख रुपये तक ही होता है।

IMPS ट्रांजेक्शन चार्ज

NEFT और IMPS के लिए ट्रांजेक्शनल चार्ज भी अलग-अलग होते है। NEFT और IMPS के शुल्क बैंक द्वारा तय किए जाते है। NEFT शुल्क न्यूनतम 1 रुपये प्रति लेन-देन से शुरू होता है और अधिकतम प्रति लेन-देन 25 रुपये तक जाता है। जबकि IMPS शुल्क आमतौर पर न्यूनतम 5 रुपये प्रति लेन-देन से शुरू होकर अधिकतम 15 रुपये प्रति लेन-देन तक ही हमेशा रहता है।

समय

IMPS का उपयोग 24 x 7 किया जा सकता है जबकि NEFT केवल इसके व्यावसायिक घंटों में ही उपलब्ध है। NEFT भुगतान प्रणाली आमतौर पर एक दिन में 23 Settlements बनाती है जो सुबह और 06.30 से शाम को 08.00 बजे तक के बीच में होती है। सुबह 6.30 PM शाम को NEFT 24 x 7 फंड ट्रांसफर सेवा नहीं है और यह रविवार, बैंक ऑफ-डे और बैंक छुट्टियों पर तो बिलकुल भी उपलब्ध नहीं है।

प्रक्रिया

IMPS आपके द्वारा भेजे गए पैसे को कभी भी तुरंत प्राप्तकर्ता के खाते में स्थानांतरित करता है। जबकि NEFT नेट और बैच के आधार पर काम करता है और यह केवल अपने व्यावसायिक घंटों में ही पैसों को भुगतान करता है जो कि बैचों के रूप में होते है। सामान्य भाषा में NEFT इलेक्ट्रॉनिक संदेशों के माध्यम से दो बैंक खातों के बीच धनराशि को स्थानांतरित कर रखता है।

विवरण

IMPS राष्ट्रीय वित्तीय स्विच नेटवर्क पर बनाया गया है तथा इसका प्रबंधन नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया (NPCI) द्वारा किया जाता है। जबकि NEFT का प्रबंधन भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा किया जाता है। IMPS को 2010 जबकि NEFT को 2005 में लॉन्च किया गया है।

उम्मीद है की आपलोग को IMPS के बारे में पूरी जानकारी समझ में आ गया होगा अगर आपको फिर भी कोई कठिनाई हो तो आप हमे कमेंट बॉक्स में आप हमसे पूछ सकते है| आपको ये मेरा पोस्ट अच्छा लगा होतो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों में शेयर कर दे|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here